Amal for Husband Back


Ek aurat ke liya usak shohar ka mohabbat hi sab kuchh hota hai aurat bhi apne shohar se besumar mohabbat karti hai. Aur use hamesha khush aur apne pass rakhna chahati hai. Lekin kayi baar dekha gya hai ki kisi aurat ka shohar apni biwi se kisi baat ko lekar ladyi ya jhagda karne lag jata hai. Ya vah apni biwi ki koi baat nhi manata hai aur nhi vah apni biwi se mohabbat karta hai. Shohar ka dil kisi dusari aurat par aa jata hai jise ki vah apne jyada samay usi ke sath vyatit karta rahta hai. Lekin uski aurat apni shadi shuda jeevan ko bachane ki har tarah ki koshish karti hai lekin use kameyabi nhi mil pati hai. Is liye vah shohar ko apne kabu me rakhne ke Amal ka istmaal karna chahati hai.

Shohar ko apne kabu me rakhne ka Amal

शौहर को अपने काबू में रखने का अमल:- एक औरत के लिए उसक शोहर का मोहब्बत ही सब कुछ होता है औरत भी अपने शौहर से बेशुमार मोहब्बत करती है| और उसे हमेशा खुश और अपने पास रखना चाहती है|लेकिन कई बार देखा गया है कि किसी औरत का शौहर अपनी बीवी से किसी बात को लेकर लड़ई या झगड़ा करने लग जाता है| या वह अपनी बीवी की कोई बात नही मानता है| और नही वह अपनी बीवी से मोहब्बत करता है| शहर का दिल किसी दूसरी औरत पर आ जाता है| जिसे की वह अपने ज्यादा समय उसी के साथ व्यतीत करता रहता है| लेकिन उसकी औरत अपनी शादी शुदा जीवन को बचाने की हर तरह की कोशिश करती है| लेकिन उसे कामयाबी नहीं मिल पाती है| इस लिए वह शोहर को अपने काबू में रखने के अमल का इस्तमाल करना चाहती है|

Shohar ko apne kabu me rakhne ka wazifa

Shohar aur biwi ke rista mohabbat aur ek dusare ke yakin par tika rahta hai. Koi bhi aurat ye nhi chahegi ki uska shohar kisi dusari aurat ke karib jaye ya use vah mohabbat kre. Lekin kayi baar shohar ka dil kisi dusari aurat par aa jata hai aur uske pyaar me pagal ho jata hai. Jise ki vah apne biwi biachche aur apne ghar wale ko apna samay nhi de pata hai. Jise ki uske biwi kafi jyada pareshan hone lag jati hai. Vah apne shohar ko apne kaabu me karne ke liye har tatah ka wazifa aur dua ka istmaal karti hai. Lekin uska shohar apni biwi ki koi baat nhi manata hai.

शौहर को अपने काबू में रखने का वज़ीफ़ा

शौहर और बीवी के रिस्ता मोहब्बत और एक दूसरे के यकीन पर टिका रहता है| कोई भी औरत ये नहीं चाहेगी कि उसका शौहर किसी दूसरी औरत के करीब जाये या उसे वह मोहब्बत करे| लेकिन कई बार शहर का दिल किसी दूसरी औरत पर आ जाता है| और उसके प्यार में पागल हो जाता है| जिसे की वह अपने बीवी बच्चे और अपने घर वाले को अपना समय नहीं दे पाता है| जिसे कि उसके बीवी काफी ज्यादा परेशांन होने लग जाती है| वह अपने शौहर को अपने काबू में करने के लिए हर ततः का वज़ीफ़ा और दुआ का इस्तमाल करती है| लेकिन उसका शौहर अपनी बीवी की कोई बात नही मानता है|

Shohar ko apne kabu me rakhne ka upay

Islamic dua me etna taakat hota hai ki vah kisi ko bhi apne kabu me asaani se kar sakte hai. Agar aap ka shohar aap ka koi baat nhi man rha hai. aur na hi vah aap se pahle jaisa mohabbat karta hai aur aap apne shohar ko apne kabu me karna chaahati hai lekin aap kar nhi paa rhi hai to aap hamare begum ji ka shohar ko apne kabu merakhne ka Amal ka istmaal kar ke hamesha ke liye apne shohar ko apne kabu me kar sakti Amla ki janakari ke liye aap begum ji se aaj hi sampark kare.

शौहर को अपने काबू में रखने का उपाय

इस्लामिक दुआ में इतना ताकत होता है| कि वह किसी को भी अपने काबू में आसानी से कर सकते है| अगर आप का शोहर आप का कोई बात नहीं मान रहा है| और न ही वह आप से पहले जैसा मोहब्बत करता है| और आप अपने शौहर को अपने काबू में करना चाहती है| लेकिन आप कर नहीं पा रही है| तो आप हमारे बेगम जी का शौहर को अपने काबू मेंरखने का अमल का इस्तमाल कर के हमेशा के लिए अपने शौहर को अपने काबू में कर सकती अमला की जानकारी के लिए आप बेगम जी से आज ही संपर्क करे|