Amal for Love problem Solution


Mohabbat Or Kisi Ko Apne Bas Me Karne Ka Amal,”All these practices are capable of being written with gold water. Wrap the Akas Bell with a little cotton and fill it with jasmine oil in the lamp at one o’clock on Sunday night, and put Suhag’s perfume near the big pan and flower lamp. Tear the mascara and apply it in the eyes, which will go in front of you.

Muhabbat Ke Vaste Amal :

Bring a quarter and a half paav flour and old jaggery. Between them, put seven light threads of ruddy color and then join hands with true heart and say in the service of Shri Ganesha, O Lord God, let my friend join me with your right. After this, recite this mantra seven million times. The mantra is- “Om Ganapathi Namo”.

Amal for Love back –

Read this cotton on flowers or perfume seven times and smell Mehboob. Will come without any reason The practice is – “The settled flowers have come to me.”
Bring an extra cotton flower and crush it with surma and mix it into a cloth made of fruit. Light the lamp Kajal pade and keep an eye and put it around the neck. Whoever sees this will be arrested in love.

Go from one Sunday to the next without going to.
Naga Dariya and read this mantra a hundred times.
But the face should be towards Mehboob’s house.
When you have read, then go straight to your house.
Do not look back.
Mehboob will come by himself on the seventh day.

Kisi Ko Apne Bas Me Karne Ka Amal Hindi:

ये सारे के सारे अमल सोने के पानी से लिखे जाने के काबिल हैं। अकास बेल थोड़ी रुई में लपेट कर इतवार की रात को एक बजे चराग में चमेली का तेल भर कर जलाये और सुहाग का इत्र बड़ा पान और फूल चराग के पास रखे। काजल फाड़कर आंखों में लगाए जिसके सामने जायेगा वह आशिक हो जायेगा।

दूसरा मुहब्बत का अमल

सवा पाव आटा और पुराना गुड़ सवा पाव लाये। दोनों के बिच सात रोशनी धागे सुर्ख रंग के रखे फिर सच्चे दिल से हाथ जोड़ कर श्री गणेश की सेवा में कहे की ऐ गणेश देवता मेरे यार को मुझ से मिला दे मैंने तेरा हक़ तुझे दिया। इसके बाद सात लाख बार यह मंत्र पढ़े। मंत्र यह है- “ॐ गणपति नमो।”

तीसरा मुहब्बत का अमल –

इस अदद कपास को फूल या इत्र पर सात बार पढ़े और महबूब को सुंघा दे। बेकरार होकर आ जायेगा। अमल यह है – “जो बसे फूल सो चली आये मेरे पास।”
एक अदद कपास का फूल लाओ और सुरमे के साथ उसे खरल कर लो और हैज़ के कपडे में मिलाकर फलिता बना लो। चराग जलाओ। काजल पाडे और निगाह रखे और गले में डाले। जो इसे देखेगा इश्क़ में गिरफ्तार हो जायेगा।

एक इतवार से दूसरे इतवार तक बिना नागा दरिया पर जाये और यह मंत्र एक सौ बार पढ़े मगर मुँह महबूब के घर की तरफ हो और जब पढ़ चुके तो सीधा अपना घर चला जाये। पीछे की तरफ मुड़कर न देखे। सातवा दिन गुजरेगा महबूब खुद ब खुद आ जायेगा।